सरकार ने एक साल में बदले 25 गांवों और शहरों के नाम-Navbharat Times

India News: जिनका नाम बदला गया है उनमें हालिया एंट्री इलाहाबाद और फैजाबाद की है, जिन्हें क्रमश: प्रयागराज और अयोध्या किया गया है।

इलाहाबाद-फैजाबाद ही नहीं, बीते एक साल में कम से कम 25 जगहों के नाम बदले गए | Allahabad NYOOOZ

केंद्र सरकार ने पिछले एक साल में कम से कम 25 नगरों और गांवों के नाम बदलने के प्रस्ताव को हरी झंडी दी है, जबकि नाम परिवर्तित करने के कई प्रस्ताव उसके पास लंबित हैं और इनमें पश्चिम बंगाल का नाम बदला जाना भी शामिल है।

शहरों के नाम बदली करने के कई प्रस्ताव में पश्चिम बंगाल का नाम बांग्ला करने का भी प्रस्ताव भी शामिल है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने पिछले एक साल में देश के विभिन्न हिस्सों में 25 शहरों और गांवों के नाम बदलने के प्रस्तावों को सहमति दी है. पढ़ें रविवार शाम की बड़ी खबरें.

एक साल में केंद्र सरकार ने 25 जगहों के नाम बदले, जानिए और कौन से नाम हैं कतार में - कई प्रस्ताव केंद्र सरकार की अनुमति पाने की बाट जोह रहे हैं, इनमें पश्चिम बंगाल का नाम ‘बांग्ला’ करने का भी प्रस्ताव है. Latest News & Updates in Hindi at India.com Hindi

इलाहाबाद का नाम प्रयागराज और फैजाबाद का नाम अयोध्या करने के प्रस्ताव अभी तक उत्तर प्रदेश सरकार ने मंत्रालय को नहीं भेजे हैं.

मोदी सरकार ने एक साल में 25 नगरों और गांवों के नाम बदलने के प्रस्ताव को हरी झंडी दी

केंद्र सरकार ने पिछले एक साल में कम से कम 25 नगरों और गांवों के नाम बदलने के प्रस्ताव को हरी झंडी दी है

मोदी सरकार ने पिछले एक साल में 25 जगहों के नाम बदलने की मंजूरी दी

पश्चिम बंगाल का नाम बांग्ला करने का प्रस्ताव गृहमंत्रालय के पास लंबित हाल ही में उत्तरप्रदेश सरकार ने इलाहाबाद और फैजाबाद के नामों में किया बदलाव राज्यों के मामले में आखिरी बार 2011 में उड़ीसा का नाम बदलकर ओडिशा रखा गया था

पिछले एक साल में सरकार ने 25 जगहों के नाम बदलने की दी मंजूरी

जिन इलाकों के नाम बदले गए हैं उसकी सूची में उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद और फैजाबाद ताजातरीन इजाफा है

पिछले एक साल में 25 जगहों के नाम बदले गए, बंगाल का नया नाम फिलहाल पेंडिंग– News18 हिंदी

आखिरी बार किसी राज्य का नाम साल 2011 में बदला गया था जब उड़ीसा का नाम बदलकर ओडिशा किया गया था. साल 1995 में बंबई का नाम मुंबई किया गया था. जबकि साल 1996 में मद्रास का नाम चेन्नई किया गया था. इसके अलावा साल 2001 में कलकत्ता का नाम कोलकाता रखा गया था.