प्रथम विश्व युद्ध के शहीद भारतीय सैनिकों को किया याद प्रधानमंत्री मोदी ने - Rashtriya Khabar

प्रथम विश्व युद्ध के भारतीय शहीदों को आज प्रधानमंत्री मोदी ने श्रद्धांजलि दी। इस युद्ध के सौ साल पूरा होने पर युद्ध में शहीद हुए भारतीयों को याद किया गया।

कहानी पहले विश्वयुद्ध के जांबाज़ भारतीय नायकों की

पहले विश्वयुद्ध में भारतीय सैनिकों से जुड़ी कई असाधारण कहानियां अब तक अनकही हैं.

पेरिस: ट्रंप के वि‍रोध में टॉपलेस हुई महिला, कार्यक्रम में उपराष्‍ट्रपत‍ि नायडू भी थे मौजूद

उस महिला प्रदर्शनकारी ने अपने शरीर पर 'फेक' और 'पीस' (शांति) शब्द छपवा रखे थे.

डोनाल्ड ट्रंप के सुरक्षा घेरे में घुसी टॉपलेस महिला, छाती पर लिखा फेक

Protestor breaches Trumps motorcade in peris First World War डोनाल्ड ट्रंप प्रथम विश्वयुद्ध के खत्म होने के 100 साल पूरे होने पर पेरिस के आर्क डि ट्रायम्फ पर होने वाले औपचारिक समारोह में शिरकत के लिए जा रहे थे।

फ्रांस: टॉपलेस महिला प्रदर्शकारी ने ट्रंप की सुरक्षा में सेंध लगाई, पुलिस ने हिरासत में लिया

अमरीकी राष्ट्रपति प्रथम विश्व युद्ध के समाप्त होने के 100 वर्ष पूरे होने के अवसर पर फ्रांस में आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुचे थे

प्रथम विश्व युद्ध भले ही 1918 में खत्म हो गया लेकिन इसमें जीतने वाले सभी देशों ने एकमत से तय किया कि इसका पूरा हर्जाना जर्मनी भरेगा। उस वक्त चर्चा सिर्फ इस बात की थी कि जर्मनी से हर्जाने के रूप में क्या वसूला जाए...

प्रथम विश्वयुद्ध के 100 साल: जर्मनी ने ही नहीं, सभी को अपने हिस्से का हर्जाना चुकाना पड़ा

कृषि क्षेत्र के लिए बनाई गई खराब नीतियों के कारण राष्ट्र उस दौरान 1930 के दशक में पड़े सूखे से निपट नहीं पाया और करीब 30 लाख लोग भूखमरी के शिकार हुए

प्रथम विश्व युद्ध की समाप्ति के 100 साल पूरे होने पर विश्व के दर्जनों नेता फ्रांस में रविवार को होने वाले एक औपचारिक समारोह में शिरकत करेंगे और 1914 से 1918 के बीच अपनी जान गंवा चुके लोगों को याद करेंगे।

प्रथम विश्व युद्ध के 100 साल, पीएम मोदी ने शहीद भारतीय सैनिकों को दी श्रद्धांजलि– News18 हिंदी

मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘‘आज जब हम भयावह प्रथम विश्व युद्ध के अंत के 100 साल पूरे कर रहे हैं, ऐसे में हम विश्व शांति के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हैं और सद्भाव एवं भाईचारे के माहौल को विस्तार देने का प्रण करते हैं ताकि युद्धों से होने वाली मौतों और तबाही का मंजर फिर से नजर न आए.’’

प्रथम विश्व युद्ध के 100 साल: सभी ने चुकाया अपने-अपने हिस्से का हर्जाना– News18 हिंदी

प्रथम विश्व युद्ध के बाद जर्मनी ने सबको हर्जाना चुकाया जरूर, लेकिन वह अकेला नहीं था. एक सदी बाद भी दुनिया वर्साय की शांति संधि का मोल चुका रही है.

WW1 के 100 साल : आज पेरिस में जुटेंगे दुनिया के अग्रणी नेता