मोदी सरकार का बड़ा दांव, पाकिस्तानियों के पैसे से भरेंगे खजाना

रुपए में कमजोरी और कच्चे तेल की महंगाई से बड़ी मुसीबत में फंस चुकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई वाली सरकार अब बड़ा दांव चलने जा रही है। मोदी सरकार ने अपना खजाना भरने के लिए ‘शत्रु संपत्ति’ (enemy shares) बेचेगी। दरअसल शत्रु संपत्ति उन लोगों की संपत्ति है जो 1947 में विभाजन के समय भारत में अपनी जमीन जायदाद छोड़कर पाकिस्तान चले गए थे।

केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने शत्रु के शेयरों की बिक्री के लिए तय प्रक्रिया और कार्यप्रणाली को मंजूरी दी

Central Cabinet approved the procedure and methodology for the sale of enemy shares,Central Cabinet approved the procedure and methodology

मोदी की एक और सर्जिकल स्ट्राइक: 'शत्रु संपत्ति' बेचकर 3000 करोड़ कमाएगी सरकार

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने दी मंजूरी, लंबे समय से बेकार पड़ी हैं ऐसी संपत्तियां.

बेचे जाएंगे शत्रु संपत्ति के 3 हजार करोड़ रुपये के शेयर- Amarujala

सरकार अपने पास शत्रु संपत्ति के तौर पर दर्ज 996 कंपनियों के करीब साढे़ छह करोड़ शेयर बेचेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बृहस्पतिवार को बुलाई गई कैबिनेट बैठक में इन शेयरों को बेचने की प्रक्रिया को मंजूरी दी गई।

केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, तीन हजार करोड़ की शत्रु संपत्ति के बिकेंगे शेयर

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने शत्रु सम्पत्ति के तहत आने वाले तीन हजार करोड़ रुपये के साढ़े छह करोड़ से अधिक शेयरों को बेचने का फैसला किया है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस बाबत फैसला लिया गया. विधि एवं न्याय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया कि शत्रु सम्पत्ति के तहत आने वाले छह करोड़ 50 लाख 75 हजार 877 शेयरों को बेचने का फैसला किया गया है. ये शेयर 996 कंपनियों में 20 हजार 323 शेयरधारकों के हैं. इन शेयरों की कीमत 1968 के हिसाब से कम से कम तीन हजार करोड़ रुपये है. अभी ये शेयर शत्रु सम्पत्ति के संरक्षक गृह मंत्रालय के कब्जे में है.

शत्रु संपत्ति के शेयर्स बेचेगी सरकार, बाजार में कीमत 3,000 करोड़, जानें क्या होगा फायदा-Navbharat Times

India News: सरकार ने शत्रु संपत्ति के शेयर्स बेचने को लेकर बड़ा फैसला किया है। गुरुवार को सरकार ने शत्रु संपत्ति की बिक्री के लिए तय प्रक्रिया और कार्यप्रणाली को मंजूरी दे दी, जिसकी मौजूदा बाजार कीमत करीब 3,000 करोड़ रुपये है।

सरकार ने शत्रु सम्पत्ति के तहत आने वाले तीन हजार करोड़ रुपये के साढ़े छह करोड़ से अधिक शेयरों को बेचने का फैसला किया है।

शत्रु संपत्ति के तहत आने वाले तीन हजार करोड़ रुपए के छह करोड 50 लाख से अधिक शेयर बेचे जाएंगे - Antim Vikalp News

Univarta: नयी दिल्ली, 08 नवम्बर (वार्ता) सरकार ने शत्रु सम्पत्ति के तहत आने वाले तीन हजार करोड़ रुपये के साढे छह करोड़ से अधिक शेयरों को बेचने का फैसला किया है।

बेचे जायेंगे 3000 करोड़ रुपये मूल्य के शत्रु कंपनी के शेयर, देश में 996 में से 588 कंपनियां अब भी सक्रिय